उड़ चल हारिल – अज्ञेय

उड़ चल हारिल लिये हाथ में
यही अकेला ओछा तिनका
उषा जाग उठी प्राची में
कैसी बाट, भरोसा किन का!

शक्ति रहे तेरे हाथों में
छूट न जाय यह चाह सृजन की
शक्ति रहे तेरे हाथों में
रुक न जाय यह गति जीवन की!

ऊपर ऊपर ऊपर ऊपर
बढ़ा चीर चल दिग्मण्डल
अनथक पंखों की चोटों से
नभ में एक मचा दे हलचल!

तिनका तेरे हाथों में है
अमर एक रचना का साधन
तिनका तेरे पंजे में है
विधना के प्राणों का स्पंदन!

काँप न यद्यपि दसों दिशा में
तुझे शून्य नभ घेर रहा है
रुक न यद्यपि उपहास जगत का
तुझको पथ से हेर रहा है!

तू मिट्टी था, किन्तु आज
मिट्टी को तूने बाँध लिया है
तू था सृष्टि किन्तु सृष्टा का
गुर तूने पहचान लिया है!

मिट्टी निश्चय है यथार्थ पर
क्या जीवन केवल मिट्टी है?
तू मिट्टी, पर मिट्टी से
उठने की इच्छा किसने दी है?

आज उसी ऊर्ध्वंग ज्वाल का
तू है दुर्निवार हरकारा
दृढ़ ध्वज दण्ड बना यह तिनका
सूने पथ का एक सहारा!

मिट्टी से जो छीन लिया है
वह तज देना धर्म नहीं है
जीवन साधन की अवहेला
कर्मवीर का कर्म नहीं है!

तिनका पथ की धूल स्वयं तू
है अनंत की पावन धूली
किन्तु आज तूने नभ पथ में
क्षण में बद्ध अमरता छू ली!

ऊषा जाग उठी प्राची में
आवाहन यह नूतन दिन का
उड़ चल हारिल लिये हाथ में
एक अकेला पावन तिनका!

ये असंगति जिन्दगी के द्वार सौ-सौ बार रोई – भारत भूषण

ये असंगति जिन्दगी के द्वार सौ-सौ बार रोई
बांह में है और कोई चाह में है और कोई

साँप के आलिंगनों में
मौन चन्दन तन पड़े हैं
सेज के सपनो भरे कुछ
फूल मुर्दों पर चढ़े हैं

ये विषमता भावना ने सिसकियाँ भरते समोई
देह में है और कोई, नेह में है और कोई

स्वप्न के शव पर खड़े हो
मांग भरती हैं प्रथाएं
कंगनों से तोड़ हीरा
खा रहीं कितनी व्यथाएं

ये कथाएं उग रही हैं नागफन जैसी अबोई
सृष्टि में है और कोई, दृष्टि में है और कोई

जो समर्पण ही नहीं हैं
वे समर्पण भी हुए हैं
देह सब जूठी पड़ी है
प्राण फिर भी अनछुए हैं

ये विकलता हर अधर ने कंठ के नीचे सँजोई
हास में है और कोई, प्यास में है और कोई

जिस सम्त भी देखूँ नज़र आता है के तुम हो / अहमद फ़राज़

जिस सम्त भी देखूँ नज़र आता है के तुम हो
ऐ जान-ए-जहाँ ये कोई तुम सा है के तुम हो

ये ख़्वाब है ख़ुश्बू है के झोंका है के पल है
ये धुंध है बादल है के साया है के तुम हो

इस दीद की सआत में कई रन्ग हैं लरज़ाँ
मैं हूँ के कोई और है दुनिया है के तुम हो

देखो ये किसी और की आँखें हैं के मेरी
देखूँ ये किसी और का चेहरा है के तुम हो

ये उम्र-ए-गुरेज़ाँ कहीं ठहरे तो ये जानूँ
हर साँस में मुझको ये लगता है के तुम हो

हर बज़्म में मौज़ू-ए-सुख़न दिल ज़दगाँ का
अब कौन है शीरीं है के लैला है के तुम हो

इक दर्द का फैला हुआ सहरा है के मैं हूँ
इक मौज में आया हुआ दरिया है के तुम हो

वो वक़्त न आये के दिल-ए-ज़ार भी सोचे
इस शहर में तन्हा कोई हम सा है के तुम हो

आबाद हम आशुफ़्ता सरों से नहीं मक़्तल
ये रस्म अभी शहर में ज़िन्दा है के तुम हो

ऐ जान-ए-“फ़राज़” इतनी भी तौफ़ीक़ किसे थी
हमको ग़म-ए-हस्ती भी गवारा है के तुम हो

– अहमद फ़राज़

Teachers Day 2021

जिंदगी में कम लोग आते हैं जो आपके जीवन में वैल्यू एडिशन कर जाते हैं, कम लोग आते हैं जो आपको “आपके” होने का अहसास कराते हैं!
आपको और ‘बेहतर’ होने की लिमिट को क्रॉस करने की प्रेरणा देते हैं।

उन सभी को मेरा प्रणाम जो अपने लीडरशिप और अन्य अमूल्य खूबियों के साथ हर पल सिखाते रहे और हमें और बेहतर बनने की हिम्मत व प्रेरणा देते रहे। #TeachersDay2021 #iShashi

Mahindra plots 14 LCVs including 6 EVs by 2026

Mahindra & Mahindra, which already has a strong market position in the below-3.5-tonne light commercial vehicle segment in India, is looking to further up the ante.

The company has outlined an aggressive new product launch programme that will see it introduce all of 14 new LCVs by 2026. These products include 6 electric vehicles (EVs) electric vehicles – 4 for last-mile mobility, an electric Jeeto cargo van and a goods-and-passenger carrying pick-up too.

#Mahindra #automobile

Mahindra plots 14 LCVs including 6 EVs by 2026

Daily Blog – Life & You

ज़िन्दगी में आप गलतियां करते है, उन ग़लतियो से सबक लेकर बेहतर करने की कोशिश करते हैं, या फिर आप ऐसे हीं रिस-रिस कर खप जाते है।

#LifeGoesOn #TryHard #loveit #iShashi

अंतिम ऊँचाई – कुँवर नारायण

कितना स्पष्ट होता आगे बढ़ते जाने का मतलब
अगर दसों दिशाएँ हमारे सामने होतीं,
हमारे चारों ओर नहीं।
कितना आसान होता चलते चले जाना
यदि केवल हम चलते होते
बाक़ी सब रुका होता।

मैंने अक्सर इस ऊलजलूल दुनिया को
दस सिरों से सोचने और बीस हाथों से पाने की कोशिश में
अपने लिए बेहद मुश्किल बना लिया है।

शुरू-शुरू में सब यही चाहते हैं
कि सब कुछ शुरू से शुरू हो,
लेकिन अंत तक पहुँचते-पहुँचते हिम्मत हार जाते हैं।
हमें कोई दिलचस्पी नहीं रहती
कि वह सब कैसे समाप्त होता है
जो इतनी धूमधाम से शुरू हुआ था
हमारे चाहने पर।

दुर्गम वनों और ऊँचे पर्वतों को जीतते हुए
जब तुम अंतिम ऊँचाई को भी जीत लोगे—
जब तुम्हें लगेगा कि कोई अंतर नहीं बचा अब
तुममें और उन पत्थरों की कठोरता में
जिन्हें तुमने जीता है—

जब तुम अपने मस्तक पर बर्फ़ का पहला तूफ़ान झेलोगे
और काँपोगे नहीं—
तब तुम पाओगे कि कोई फ़र्क़ नहीं
सब कुछ जीत लेने में
और अंत तक हिम्मत न हारने में।

स्रोत :

  • पुस्तक : प्रतिनिधि कविताएँ (पृष्ठ 92)
  • रचनाकार : कुँवर नारायण
  • प्रकाशन : राजकमल प्रकाशन
  • संस्करण : 2008

My Favourite Shayari – प्रेरणादायक शायरी

और भी दुख हैं ज़माने में मोहब्बत के सिवा
राहतें और भी हैं वस्ल की राहत के सिवा
– फ़ैज़ अहमद फ़ैज़

वो अफ़्साना जिसे अंजाम तक लाना न हो मुमकिन
उसे इक ख़ूब-सूरत मोड़ दे कर छोड़ना अच्छा
– साहिर लुधियानवी

जहाँ रहेगा वहीं रौशनी लुटाएगा
किसी चराग़ का अपना मकाँ नहीं होता
वसीम बरेलवी

हम को मिटा सके ये ज़माने में दम नहीं
हम से ज़माना ख़ुद है ज़माने से हम नहीं
जिगर मुरादाबादी

दुश्मनी जम कर करो लेकिन ये गुंजाइश रहे
जब कभी हम दोस्त हो जाएँ तो शर्मिंदा न हों
बशीर बद्र

कश्तियाँ सब की किनारे पे पहुँच जाती हैं
नाख़ुदा जिन का नहीं उन का ख़ुदा होता है
अमीर मीनाई

उठो ये मंज़र-ए-शब-ताब देखने के लिए
कि नींद शर्त नहीं ख़्वाब देखने के लिए
इरफ़ान सिद्दीक़ी

न हम-सफ़र न किसी हम-नशीं से निकलेगा
हमारे पाँव का काँटा हमीं से निकलेगा
राहत इंदौरी

धूप में निकलो घटाओं में नहा कर देखो
ज़िंदगी क्या है किताबों को हटा कर देखो
निदा फ़ाज़ली

तिरे माथे पे ये आँचल बहुत ही ख़ूब है लेकिन
तू इस आँचल से इक परचम बना लेती तो अच्छा था
असरार-उल-हक़ मजाज़

हयात ले के चलो काएनात ले के चलो
चलो तो सारे ज़माने को साथ ले के चलो
मख़दूम मुहिउद्दीन

घर से मस्जिद है बहुत दूर चलो यूँ कर लें
किसी रोते हुए बच्चे को हँसाया जाए
निदा फ़ाज़ली

रास्ता सोचते रहने से किधर बनता है
सर में सौदा हो तो दीवार में दर बनता है
जलील ’आली’

चला जाता हूँ हँसता खेलता मौज-ए-हवादिस से
अगर आसानियाँ हों ज़िंदगी दुश्वार हो जाए
असग़र गोंडवी

कोशिश भी कर उमीद भी रख रास्ता भी चुन
फिर इस के ब’अद थोड़ा मुक़द्दर तलाश कर
निदा फ़ाज़ली

प्यासो रहो न दश्त में बारिश के मुंतज़िर
मारो ज़मीं पे पाँव कि पानी निकल पड़े
इक़बाल साजिद

एक हो जाएँ तो बन सकते हैं ख़ुर्शीद-ए-मुबीं
वर्ना इन बिखरे हुए तारों से क्या काम बने
अबुल मुजाहिद ज़ाहिद

तीर खाने की हवस है तो जिगर पैदा कर
सरफ़रोशी की तमन्ना है तो सर पैदा कर
अमीर मीनाई

हार हो जाती है जब मान लिया जाता है
जीत तब होती है जब ठान लिया जाता है
शकील आज़मी

देख ज़िंदाँ से परे रंग-ए-चमन जोश-ए-बहार
रक़्स करना है तो फिर पाँव की ज़ंजीर न देख
मजरूह सुल्तानपुरी

सूरज हूँ ज़िंदगी की रमक़ छोड़ जाऊँगा
मैं डूब भी गया तो शफ़क़ छोड़ जाऊँगा
इक़बाल साजिद

भँवर से लड़ो तुंद लहरों से उलझो
कहाँ तक चलोगे किनारे किनारे
रज़ा हमदानी

रात को जीत तो पाता नहीं लेकिन ये चराग़
कम से कम रात का नुक़सान बहुत करता है
इरफ़ान सिद्दीक़ी

इत्तिफ़ाक़ अपनी जगह ख़ुश-क़िस्मती अपनी जगह
ख़ुद बनाता है जहाँ में आदमी अपनी जगह
अनवर शऊर

पैदा वो बात कर कि तुझे रोएँ दूसरे
रोना ख़ुद अपने हाल पे ये ज़ार ज़ार क्या
अज़ीज़ लखनवी

इधर फ़लक को है ज़िद बिजलियाँ गिराने की
उधर हमें भी है धुन आशियाँ बनाने की
अज्ञात

‘शुऊर’ सिर्फ़ इरादे से कुछ नहीं होता
अमल है शर्त इरादे सभी के होते हैं
अनवर शऊर

मत बैठ आशियाँ में परों को समेट कर
कर हौसला कुशादा फ़ज़ा में उड़ान का
महफूजुर्रहमान आदिल

जादा जादा छोड़ जाओ अपनी यादों के नुक़ूश
आने वाले कारवाँ के रहनुमा बन कर चलो
अज्ञात

हयात ले के चलो काएनात ले के चलो
चलो तो सारे ज़माने को साथ ले के चलो
मख़दूम मुहिउद्दीन

अपने मन में डूब कर पा जा सुराग़-ए-ज़ि़ंदगी
तू अगर मेरा नहीं बनता न बन अपना तो बन
अल्लामा इक़बाल

भँवर से लड़ो तुंद लहरों से उलझो
कहाँ तक चलोगे किनारे किनारे
रज़ा हमदानी

महफ़ूज़ रहे तेरी आन सदा,
चाहे जान मेरी ये रहे ना रहे
ऐ मेरी ज़मीं, महबूब मेरी
मेरी नस-नस में तेरा इश्क़ बहे

पानी के बुलबुलों का सफ़र जानते हुए
तोहफ़े में दिल न देना था हम ने मगर दिया।

मोम के लोग कड़ी धूप में आ बैठे हैं
आओ अब उन के पिघलने का तमाशा देखें
~ज़फ़र इक़बाल ज़फ़र

ग़र फिरदौस बर रू-ए ज़मीं अस्त
हमीं अस्तो हमीं अस्तो हमीं अस्त
~अमीर खुसरो

If there is a paradise on earth
It is this, it is this, it is this

अपनी छवि बनाई के जो मैं पी के पास गई,
जब छवि देखी पीहू की तो अपनी भूल गई..!!

बहुत गुरूर है दरिया को अपने होने पर,
जो मेरी प्यास से उलझे तो धज्जियाँ उड़ जाएँ….

इक मुलाक़ात हुई वो भी बिछड़ने के लिए
कैमरा टूट गया एक ही तस्वीर के बाद

वो ख़ुद से तो न उट्ठेंगे उन्हें तुम ही उठा देना
घटाई है जिन्हों ने इतनी क़ीमत अपने सिक्के की
~कैफ़ी आज़मी

वो जिस की ठोकर में हो सँभलने का दर्स शामिल
तुम ऐसे पत्थर को रास्ते से हटा न देना
~क़तील शिफ़ाई

शामिल थे ज़िंदगी मे कूछ सस्ते लोग,
बस सबक़ थोड़ा मेहगा देकर चले गए।।

इस उड़ान पर अब शर्मिंदा, में भी हूँ और तू भी है
आसमान से गिरा परिंदा, में भी हूँ और तू भी है

बस यही दो मसले,जिंदगी भर ना हल हुए..
ना नींद पूरी हुई ना ख्वाब मुकम्मल हुए

जला वो शमा कि आँधी जिसे बुझा न सके
वो नक़्श बन कि ज़माना जिसे मिटा न सके
~शफ़ीक़ जौनपुरी

कुछ लिख के सो, कुछ पढ़ के सो, तू जिस जगह जागा सवेरे, उस जगह से कुछ बढ़ के सो। ~
भवानीप्रसाद मिश्र

फ़िक़्र की धूप में

क्यूँ तुझको लग रहा है कि तुझसे ज़ुदा हूँ मैं
मुझमें तू ख़ुद को देख तेरा आईना हूँ मैं

ऐ दिल सभी ने तोड़ दिया है यक़ीन तेरा
दुनिया की बात क्या करूँ ख़ुद से ख़फ़ा हूँ मैं

बस तेरा आसरा है मुझे ऐ मेरे ख़ुदा
सजदे में तेरे हर घड़ी महवे-दुआ हूँ मैं

अल्लाह रे ज़माना-ए-हाज़िर का क्या करें
हर शख़्स कह रहा है यहाँ पर ख़ुदा हूँ मैं

तेरे बग़ैर मैं तो अधूरी थी शायरी
पहचान हुई ख़ुद से ये जाना सिया हूँ मैं

सिया सचदेव

INTRADAY INDICATORS -BASICS OF TRADING

If you’re looking for the best indicator for intraday trading, we might have the answers. Intraday trading indicators are tools that traders use along with trading strategies to make the most out of their trade. Every trader uses a different indicator while there are also traders who use none. It all depends on how successful they are when using indicators for trading.

As a common practice, many traders check the indicators before starting the trading day. So, what exactly can these trading indicators help you identify?

  1. The most accurate intraday trading indicators will be able to help you identify the direction of the trend to determine the movement
  2. You can also identify whether there is a lack of momentum or too much of it in the investment market
  3. Trading indicators can tell you your profit potential due to the volatility
  4. They also help you determine the popularity through volume measurements

With these critical pieces of information received from the trading indicators, traders can effectively assess the market conditions and make informed decisions to earn higher profits.

So, which are the most accurate intraday trading indicators?

  1. Moving Averages:This is one of the most common and widely used indicators. It tells traders about daily moving averages (DMA). The moving average is a line on the stock chart a trader refers to, that connects the average closing rates of the shares over a specific period. The longer the time, the more reliable is the information on the moving average. Using this indicator can help traders to identify the underlying movement of the price, as in share market, prices don’t move in just one direction. Share market, and therefore, the stock prices are extremely volatile. The moving average indicator smoothens out this volatility and enables the trader to get a clear understanding of the underlying trend with regards to the price movement.
  2. Bollinger Bands:This is another useful trading indicator. Experts say that this intraday trading indicator is a little more advanced than the moving average. This Bollinger Band refers to three lines on the stock chart —the moving average, an upper limit and a lower one. All these lines represent the deviation happening in the price of the stock, whether it is increasing or decreasing from its average price. This Intraday trading indicator allows traders to have a better understanding of the stock’s trading range.
  3. Momentum Oscillators:In the share market, one constant is the up and down movement of the stock prices. Often, the prices rise and fall so quickly that sometimes traders miss out on these changes. That’s where the Momentum Oscillator is beneficial. It helps traders determine whether the price of the stocks is going to move further up or down the price range
  4. Relative Strength Index (RSI):This is one of the most useful indicators that allows traders to compare the share price’s gains and losses. Once this information has been derived, it is formulated in an index form. The index helps traders narrow down the RSI score ranging between 0 and 100. When the price of the stock rises, the index increases and vice versa. When the RSI increases or decreases to a specified limit, it is an indicator to the trader that he must modify his trading strategy to make the most of the changing market trends.

If you’re an expert investor or have just started in the world of share markets, using Intraday trading indicators can help you avert risk, understand what’s driving the market and make bets that will be to your advantage. At Angel Broking, we offer detailed charts and reports containing these indicators. Visit our website to know more about these indicators and get started with your trading journey!

फर्स्ट पार्टी और थर्ड पार्टी इंश्योरेंस में क्या होता है? क्या आप जानते हैं !

आप टू-व्हीलर चलाएं या फोर-व्हीलर गाड़ी के कागज़ पूरे होने चाहिए। जिसमें आपको वाहन का इंश्योरेंस हर साल करवाना पड़ता है। केंद्रीय सड़क एवं परिवहन मंत्री ने नियमों में बदलाव किए हैं जिसके बाद सड़क पर अब बिना इंश्योरेंस के गाड़ी चलाना आपको महंगा पड़ सकता है। लेकिन इंश्योरेंस पॉलिसी भी अलग-अलग होती हैं। अक्सर हम फर्स्ट पार्टी और थर्ड पार्टी इंश्योरेंस के बारे में सुनते हैं। हालांकि इन पॉलिसीज़ के फायदे और नुकसान के बारे में अधिकतर लोग नहीं जानते हैं। अगर आप भी जानना चाहते हैं कि फर्स्ट पार्टी और थर्ड पार्टी इंश्योरेंस में क्या फर्क होता है तो हम आपको इस लेख के जरिेए समझाने की कोशिश करते हैं।

क्या होता है थर्ड पार्टी इंश्योरेंस:

थर्ड पार्टी इंश्योरेंस वह होता है, जिसमें आपके द्वारा हुई किसी दुर्घटना का क्लेम आपको नहीं मिलता बल्कि सामने वाले को मिलता है। मान लीजिए आपकी बाइक या कार किसी दूसरी बाइक या कार से टकराती है, तो दुर्घटना में हुए नुकसान की भरपाई आपकी इंश्योरेंस कंपनी सामने वाले को देती हैं। थर्ड पार्टी इंश्योरेंस में यदि आपकी बाइक या कार चोरी भी हो जाए तो उसका क्लेम आपको नहीं मिलता है। क्योंकि चोरी इसमें कवर नहीं होती है और थर्ड पार्टी इंश्योरेंस के तहत सिर्फ सामने वाली पार्टी को लाभ मिलता है जो आपके वाहन से दुर्घटना ग्रस्त हुआ है। मान के चलिए यह इंश्योरेंस गाड़ी के पेपर्स पूरे रखने की प्रक्रिया के तहत करवाया जा सकता है।

फर्स्ट पार्टी इंश्योरेंस: 

फर्स्ट पार्टी इंश्योरेंस जीरो डेप्थ के साथ करवाया जा सकता है। जिसमें सारी चीज़ें कवर होती हैं। जैसे आपकी गाड़ी की टूट-फूट आपकी शारीरिक क्षति, सामने वाले जिससे आपकी गाड़ी टकराई है उसकी गाड़ी की टूट-फूट से लेकर उसकी इंजरी तक सारी चीज़ें इस इंश्योरेंस पॉलिसी में आपको कंपनी की तरफ से मिलती हैं। यहां तक कि इस इंश्योरेंस के तहत गाड़ी चोरी हो जाने पर या बुरी तरह डैमेज हो जाने पर भी आपको कंपनी से क्लेम मिल जाता है। जीरो डेप्थ वाले इंश्योरेंस में आप साल में दो बार क्लेम ले सकते हैं। बता दें कि नए नियमों के मुताबिक बिना इंश्योरेंस के गाड़ी चलाने पर 2 हजार रुपये का जुर्माना या 3 महीने की जेल या दोनों साथ-साथ हो सकते हैं।

#SaturdayVibes – Break The Chain

If you do what you’ve always done, You’ll get what you have always gotten

SO,

Break The Chain and Rise…

I look forward to continue serving your General Insurance needs

#StayInsured #ThinkAhead #Muzaffarpur #Motihari #Sitamarhi #Siwan #Chapra #Gopalganj #Bettiah #Madhubani #Darbhanga #Raxaul #Quote #Life #InspiringShashi #iShashi #SaturdayMorning

Tuesday Motivation – Stay Humble

Good Morning 🙏

उन्हें ठहरे समुंदर ने डुबोया
जिन्हें तूफ़ाँ का अंदाज़ा बहुत था
~मलिकज़ादा मंज़ूर अहमद

#StayInsured #ThinkAhead #Muzaffarpur #Motihari #Sitamarhi #Siwan #Chapra #Gopalganj #Bettiah #Madhubani #Darbhanga #Raxaul #Quote #Life #InspiringShashi #iShashi

We look forward to continue serving your General Insurance needs

Happy 2021 – इस साल आप ‘इक्कीस’ रहो

चलो ऐसा फिर कुछ यत्न करो,
इस साल आप ‘इक्कीस’ रहो

ना द्वेष रखो ना मनभेद करो,
निज लक्ष्य निरन्तर भेद करो

निज गौरव का उत्थान रहे
हम आपके हैं यह ध्यान रहे

कुछ आप कहो, कुछ मेरी सुनो,
इतना बस अधिकार बनाए रखो।

किराना दुकान मालिकों के लिए बीमा कवर – जो हर दिन जोखिम झेल रहे हैं

किराना दुकान मालिक जो रोजाना जोखिम झेल रहे हैं उनके लिए जरूरी बीमा कवर की जरूरत है अब ये आप पर है कैसे किस हद तक किन किन तक पहुंच पाते है

किराना स्टोर के मालिक कस्टमर्स की कई जरूरतों को पूरा करते रहे, वे अक्सर किसी भी अप्रत्याशित आपात स्थिति से खुद को बचाना भूल गए. चलिए कुछ बिन्दुओं पर एक नजर डालिए कि यह छोटे व्यवसायों के मालिक किसी भी दुर्भाग्यपूर्ण घटना से खुद को और अपने व्यवसायों को कैसे सुरक्षित रख सकते हैं.

आज के समय मे हेल्थ इंश्योरेंस कवर सबसे जरूरी है

किराने का सामान स्टॉक करने, वितरकों के साथ बैठकें करने और कारोबार के लिए पैसों की व्यवस्था करने, किराने की दुकान के मालिकों जैसे छोटे व्यवसाय के मालिकों के व्यस्त कार्यक्रम के बीच, शायद ही कभी अपने और अपने परिवार के स्वास्थ्य की रक्षा करने पर ध्यान देते हैं. किसी भी प्रकार की आपातकालीन चिकित्सा उनके कारोबार के लिए बाधक बन सकती है.
जो पैसा उन्होंने अपने कारोबार विस्तार के लिए बचा रखा है उसे उन्हें हैल्थ केयर ख़र्चे में व्यय करना पड़ जाता है.
हेल्थ बीमा कवर व्यापारी की वित्तीय एवं शारीरिक स्वास्थ्य दोनो को रक्षा प्रदान करता है. एक उचित इंश्योरेंस प्लान अस्पताल में भर्ती खचरें की पूरी श्रृंखला से कवरेज प्रदान करेगा. इसके अलावा वे श्रेष्ठतम चिकित्सा प्राप्त कर सकेंगे, यह एक प्रकार से उन्हे भविष्य के खचरें जैसे ओपीडी और डे-केयर ट्रीटमेंट सुविधाएं भी प्रदान करता है.

किराना दुकान मालिकों के लिए बीमा कवर – जो हर दिन जोखिम झेल रहे हैं – शशि कुमार आँसू

Insurance #Health_Insurance #insuranceagent #insuranceexpert #needbasedInsurance #ishashi #InspiringShashi #muzaffarpur #Darbhanga #motihari #bettiah #Sitamarhi #madhubani #TIRHUT

%d bloggers like this: